अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में आयुष्मान भारत पखवाड़ा शुरू हो गया। जिसके तहत संस्थान की ओर से पखवाड़ेभर विभिन्न जनजागरुकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।                                                                                                                                                 केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में सोमवार से एम्स संस्थान में आयुष्मान भारत पखवाड़ा विधिवत शुरू हो गया। इस अवसर पर अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना आर्थिकरूप से कमजोर लोगों की स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए मददगार साबित हो रही है। जरुरतमंद लोगों को बीमारी में उपचार कराने में सहायता मिल सके इसके मद्देनजर एम्स ऋषिकेश में इस योजना की लांचिंग के दिन से ही मरीजों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिया जाने लगा था। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने आयुष्मान भारत पखवाड़े के शुभारंभ अवसर पर लोगों से इस योजना का अधिकाधिक लाभ लेने का आह्वान किया। बताया कि इसके तहत सप्ताह में दो दिन प्रत्येक शनिवार व रविवार को एम्स में आने वाले लोगों को आयुष्मान भारत योजना स्वास्थ्य कार्ड बनाने की सुविधा दी जाएगी, जिससे आमजन जरुरत पड़ने पर योजना का लाभ ले सकें।                                       एम्स निदेशक प्रो.रवि कांत ने बताया कि संस्थान में 23 सितंबर 2018 से आयुष्मान भारत योजना के तहत मरीजों को उपचार दिया जा रहा है, इस योजना से संस्थान में करीब एक साल में 10,298 लोग लाभा​न्वित हो चुके हैं। गौरतलब है कि एम्स ऋषिकेश में अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना से 8739 मरीज जबकि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत उत्तरप्रदेश से 1494,मध्यप्रदेश से 15, बिहार से 25, हरियाणा से 12, हिमाचल प्रदेश से 7,झारखंड से 3, चंडीगढ़ से 2 और महाराष्ट्र से 1 मरीज का उपचार किया जा चुका है।                                                                                                 एम्स की आयुष्मान भारत योजना की नोडल अधिकारी डा. पूर्वी कुलश्रेष्ठा ने बताया कि आयुष्मान भारत पखवाड़े के तहत संस्थान में आने वाले लोगों को इस योजना से जुड़ने को जागरुक किया जाएगा, साथ ही 23 सितंबर को पब्लिक अवेयरनैस प्रोग्राम आयोजित किया जाएगा।

Post A Comment: