ऋषिकेश,21 सितम्बर (AKA)। पिछले 61 दिनों से नगर के बीचो बीच डाले रहे, कूड़े के डंपिंग ग्राउंड को हटाए जाने की मांग को लेकर जागृति एक संस्था द्वारा दिए जा रहे धरने को उप जिलाधिकारी ने वार्ता के बाद समाप्त करवा दिया है। उल्लेखनीय है कि जागृति एक संस्था द्वारा ऋषिकेश हरिद्वार मार्ग पर नगर निगम द्वारा डाले जा रहे कूड़े के बाद डंपिंग जोन को हटाए जाने के लिए लंबे समय से परशुराम चौक पर धरना दिया जा रहा है ।जिन्होंने विगत 18 सितंबर को इसी मांग को लेकर त्रिवेणी घाट पर जल समाधि लिये जाने का भी प्रयास किया था ।जिसे लेकर स्थानीय कोतवाली पुलिस द्वारा आंदोलनकारियों के खिलाफ शांति भंग सहित आत्महत्या किए जाने के मुकदमे भी दर्ज किए थे। जिससे आंदोलनकारियों में रोष उत्पन्न हो रहा था। इसी के चलते उपजिलाधिकारी प्रेमलाल ने शनिवार को अपने कार्यालय में समझौता बैठक आयोजित की, जिसमें संस्था के अध्यक्ष अरविंद हटवाल सहित अन्य आंदोलनकारी के अतिरिक्त सफाई निरीक्षक सचिन रावत, नगर निगम के सहायक आयुक्त  एल एम. दास टेक्स्ट सुपरिटेंडेंट रमेश सिंह वन अधिकारी एन पी एस नेगी, भी मौजूद थे। जिनसे हुई वार्ता के अनुसार उन्हें आश्वासन दिया गया, कि नगर निगम द्वारा लालपानी कक्ष संख्या 1 में भूमि पर साइंटिफिक लैंडफिल साइट की रिपोर्ट तैयार की जा रही है ।उक्त भूमि  का फाइनल सर्वे  11 माह के अंदर कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा ।जिससे कि नगर निगम क्षेत्र में उत्पन्न होने वाले कूडे को साइंटिफिक तरीके से निकाले जाने की प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी जाएगी। इसके बाद आंदोलनकारियों ने उप जिलाधिकारी के आश्वासन पर अपना धरना समाप्त किए जाने की घोषणा की । उप जिलाधिकारी द्वारा दिए गए आश्वासन के बाद आंदोलनकारियों में काफी हर्ष देखा जा रहा है । जिन्होंने लड़ाई का श्रेय नगर की जनता को दिया है ।

Post A Comment: