ऋषिकेश, अगस्त।  सोसाइटी ऑफ यंग बायोमेडिकल साइंटिस्ट की ओर से नवंबर में आयोजित होने वाली द्वितीय नेशनल बायोमेडिकल रिसर्च प्रतियोगिता के प्रमोशन के लिए एम्स ऋषिकेश में संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने प्रतियोगिता का पोस्टर लांच किया। इस अवसर पर निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने युवा वैज्ञानिकों व शोधकर्ताओं को राष्ट्रीय प्रतियोगिता में प्रतिभाग सुनिश्चित करने का आह्वान किया। गौरतलब है कि सोसाइटी ऑफ यंग बायोमेडिकल साइंटिस्ट की ओर से गतवर्ष से नेशनल बायोमेडिकल रिसर्च प्रतियोगिता आयोजित की जाती है। पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न डा.एपीजे अब्दुल कलाम की स्मृति में आयोजित होने वाली यह प्रतियोगिता इस साल पीजीआई चंडीगढ़ में आयोजित की जाएगी, जिसका उद्देश्य देशभर के युवा वैज्ञानिकों को अनुसंधान के लिए प्रेरित करना है।                                                                                                                                                                           इस अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने कहा कि इस तरह की प्रतिस्पर्धाओं के आयोजन से युवा विद्यार्थियों की अनुसंधान के क्षेत्र में रूचि बढ़ेगी और देश को आने वाले समय में अच्छे वैज्ञानिक मिल सकेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि सोसाइटी की ओर से किए जा रहे ऐसे रचनात्मक प्रयासों से स्वास्‍थ्य एवं अनुसंधान के क्षेत्र में देश और बेहतर प्रगति कर सकेगा। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने युवा शोधा​र्थियों से प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर अनुसंधान के क्षेत्र में आगे बढ़ने का आह्वान किया। उन्होंने बताया कि गतवर्ष इस प्रतियोगिता का आयोजन एम्स ऋषिकेश में किया गया था,जिसमें पांच सौ से अधिक युवा वैज्ञानिकों ने प्रतिभाग किया था, उम्मीद जताई कि इस वर्ष चंडीगढ़ में आयोजित होने वाली द्वितीय प्रतियोगिता में युवा वैज्ञानिकों व शोधार्थियों की संख्या में इजाफा होगा।                                                                                                                                                                           सोसाइटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. रोहिताश यादव ने बताया कि इस वर्ष राष्ट्रीय बायोमेडिकल रिसर्च प्रतियोगिता 17 नवंबर को पीजीआई चंडीगढ़ में आयोजित की जाएगी। जिसमें देशभर के विभिन्न संस्थानों मेडिकल,डेंटल, नर्सिंग, फार्मेसी, बायो इंजीयिरिंग एवं आयुष के शोधार्थी अपने रिसर्च कार्य को पोस्टर और पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के द्वारा प्रस्तुत कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि पोस्टर प्रतयोगिता चार वर्गों में और पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन तीन वर्गों में आयोजित की जाएगी, जिसमें लाइफ साइंस, मेडिकल साइंस, आयुष एवं इनोवेटिव आईडिया एंड पेटेंट्स विषय शामिल हैं।                                                                                                                                                                     यादव ने बताया कि किसी भी वर्ग में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले युवा वैज्ञानिकों को सोसाइटी की ओर से यंग रिसर्चर अवार्ड के साथ ही क्रमश: 25 हजार,15 हजार व 10 हजार का नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष रोहिताश यादव ने बताया कि इस प्रतियोगिता में अधिकतम 35 वर्ष तक के युवा वैज्ञानिक प्रतिभाग कर सकते हैं, प्रतियोगिता में प्रतिभाग के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि 30 सितंबर 2019 निर्धारित की गई है। प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लेने वाले युवा वैज्ञानिक अपना पंजीकरण सोसाइटी की वेबसाइट www.sybsindia.org पर निर्धारित तिथि से पूर्व करा सकते हैं। प्रतियोगिता में एम्स ऋषिकेश के निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत, एम्स भोपाल के अध्यक्ष प्रो. वाईके गुप्ता व आईजीआईएमएस पटना के निदेशक प्रो. एनआर विश्वास बतौर साइंटिफिक चेयरपर्सन शिरकत करेंगे। प्रतियोगिता के पोस्टर प्रमोशन के अवसर पर डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता, फार्माकोलॉजी विभागाध्यक्ष प्रो. शैलेंद्र हांडू,डा. पुनीत धमीजा, सोसाइटी के अध्यक्ष रोहिताश यादव,प्रशांत चौहान आदि मौजूद थे।

Post A Comment: