नई दिल्ली: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री इन दिनों अपनी महा जनादेश यात्रा को लेकर सुर्खियों बने हुए हैं। आगामी चुनाव के मद्देनजर बीजेपी दिग्गज नेता इस यात्रा पर निकले हैं। हाल ही में नागपुर में अपनी यात्रा के दौरान संबोधन में फणनवीस पीएम नरेंद्र मोदी का जिक्र करते हुए नजर आए। यहां उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने मोदी का साथ छोड़ा है उन्हें जनता माफ नहीं करती है।
मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने कहा, 'जिसने छोड़ा मोदी का साथ उसका हुआ सत्यानाश। मोदी का साथ छोड़ने वाले को जनता काफी माफ नहीं करती है।' गौरतलब है महाराष्ट्र चुनाव से पहले फणनवीस जनता से कई तरह के वादे करते हुए भी नजर आ रहे हैं। उन्होंने दोबारा सरकार बनने पर राज्य को सूखे से मुक्त करने का वादा भी किया है।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस अगले कार्यकाल को लेकर आश्वस्त नजर आ रहे हैं और उन्हें पूरा भरोसा है कि एक बार फिर बीजेपी पूर्ण बहुमत के साथ वापसी करने जा रही है। देवेंद्र फणनवीस ने अपनी दो-महीने लंबी 'महा जनादेश यात्रा' शुरू की है और गुरुवार को उनके साथ यात्रा शुरु करने के दौरान कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी पहुंचे थे। यह यात्रा दो चरणों में पूरी होगी।
हालांकि बीजेपी और शिवसेना मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन दोनों के बीच प्रतिस्पर्धा भी दिख रही है। जहां सीएम देवेंद्र फणनवीस बीजेपी की ओर से 'महाजनादेश यात्रा' निकाल रहे हैं वहीं शिवसेना भी 'जन आशीर्वाद यात्रा' के साथ लोगों के दिलों में जगह बनाने में जुटी है। ऐसे में देवेंद्र फणनवीस का मोदी का साथ छोड़ने वाला बयान शिवसेना से जोड़कर देखा जा रहा है।
गौरतलब है कि महाराष्ट्र में मौजूदा समय में भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना का गठबंधन सरकार है। सरकार का नेतृत्व देवेंद्र फडणवीस भी कर रहे हैं। वहीं दोनों दल एक साथ मिलकर आगामी विधानसभा चुनाव में मैदान में आएंगे। जबकि शिवसेना ने भी यह बात साफ कर दी है कि अगर गठबंधन सरकार की वापसी होती है तो दोनों पार्टियां ढाई-ढाई साल सीएम की कुर्सी संभालेंगी। महा जनादेश के तहत मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस 104 रैलियों, 228 स्वागत सभाओं को संबोधित करेंगे। बता दें कि बीजेपी ने इस बार 220 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।

Post A Comment: