फ्लोरिडा: भारत ने रविवार को तीन टी20 मैचों की सीरीज के दूसरे मुकाबले में वेस्टइंडीज को हरा दिया। खराब मौसम से प्रभावित मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को
डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 22 रन से हराया। इसी के साथ भारत ने सीरीज में 2-0 की निर्णायक बढ़त हासिल कर ली है। अमेरिका में फ्लोरिडा के लॉडरहिल स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने 167 रन का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में वेस्टइंडीज ने 15.3 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 95 रन बनाए लिए थे और तभी खराब मौसम के कारण खेल को रोक दिया गया। 

डकवर्थ लुईस नियम के तहत इस समय तक वेस्टइंडीज को 120 रन बनाने थे। यहां से खेल आगे नहीं हो पाया और भारत को डकवर्थ लुइस नियम के तहत विजेता घोषित कर दिया गया। कीरोन पोलार्ड 8 और शिमरोन हेटमायर 6 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे। कैरेबियाई टीम के लिए सबसे ज्यादा रन रोवमैन पॉवेल (54) ने बनाए। उन्होंने 36 गेंदों की अपनी पारी में 6 चौके और 3 छक्के मारे। भारत की तरफ से क्रुणाल पांड्या ने दो जबिक वॉशिंगटन सुंदर और भुवनेश्वर कुमार ने एक-एक विकेट हासिल किया। 
लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने बेहद निराशाजनक आगाज किया। उसके सलामी बल्लेबाज एविन लुईस और सुनील नरेन चार के कुल स्कोर पर
पवेलियन लौट गए। लुईस को भुवनेश्वर ने दूसरे ओवर की दूसरी गेंद पर कॉट एंड बोल्ड आउट किया। वह अपना खाता भी नहीं खोल पाए। वहीं, नरेन को सुंदर ने
तीसरे ओवर की आखिरी गेंद पर बोल्ड कर पवेलियन भेजा। इसके बाद निकोलस पूरन (19) और रोवमैन पॉवेल ने वेस्टइंडीज की पारी को संभलकर आगे बढ़ाया।

दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 76 रन की साझेदार कर भारतीय खेमे में चिंता बढ़ा दी। खतरनाक हो रही यह साझेदारी 14वें ओवर की दूसरी गेंद पर टूटी। पांड्या ने पूरन को मनीष पांडे के हाथों लपकवा भारत को राहत दी। पांडे ने बाउंड्री लाइन पर शानदार कैच पकड़ा। पूरन के आउट होने के बाद पॉवेल भी ज्यादा देर नहीं टिक सके और 14वें ओवर की पांचवीं गेंद पर अपना विकेट गंवा बैठे। पांड्या ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट किया। पॉवेल का विकेट 85 के कुल स्को पर गिरा। 

Post A Comment: