ऋषिकेश, 29 अगस्त उड़ान फाउंडेशन द्वारा मायाकुंड में संचालित निःशुल्क शिक्षण संस्थान उड़ान में आज हाकी के जादूगर कहे जाने वाले महान हाकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की 114 वीं जयंती पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनको याद किया गया।इस अवसर पर उड़ान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ राजे सिंह नेगी ने बताया कि हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद का आज 114वां जन्मदिन है।आज ही के दिन 29 अगस्त सन 1905 में प्रयागराज में उनका जन्म हुआ था।प्रयागराज में जन्मे मेजर ध्यानचंद को खेल जगत की दुनिया में 'दद्दा' कहकर पुकारते हैं। एवं उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन खेल के क्षेत्र में विशेष उपलब्धि हासिल करने वाले खिलाड़ियों को सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न के अलावा अर्जुन, ध्यानचंद पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कार आदि दिए जाते है। लगातार तीन ओलंपिक (वर्ष 1928 एम्सटर्डम, 1932 लॉस एंजेलिस और 1936 बर्लिन) में भारत को हॉकी का स्वर्ण पदक दिलाने वाले ध्यानचंद की उपलब्धियों का सफर भारतीय खेल इतिहास को गौरवान्वित करता है। हर वर्ष ध्यानचंद की जयंती पर खेल जगत उनके लिए भारत रत्न की मांग उठाता है।मेजर ध्यानचंद को 1956 में देश के तीसरे दर्जे का सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मभूषण तो दिया गया, लेकिन सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न के लिए उनके नाम की बार-बार अनदेखी से आजतक खेल जगत हैरान है।हमारा भारत सरकार से निवेदन है कि मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न दिया जाए यही हम सब की उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।इस अवसर पर संस्थान की प्रिया क्षेत्री,प्रियंका कुकरेती,मीनाक्षी राणा,मंजू देवी,आशुतोष कुड़ियाल,उत्तम सिंह असवाल,मनोज नेगी उपस्तिथ थे।

Post A Comment: