देहरादून I देहरादून के जिले के 11 गांवों को शहर की तरह विकसित किया जाएगा। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के अंतर्गत रानीपोखरी क्षेत्र के इन गांवों को चुना गया है। इनके विकास में कुल 100 करोड़ रुपये खर्च होंगे। जिसके लिए 30 करोड़ रुपये केंद्र सरकार से स्वीकृत हो चुके हैं। जबकि, 70 करोड़ रुपये विभाग खर्च करेगा।
जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बताया कि इस योजना के तहत इन गांवों में 24 घंटे जलापूर्ति, डिजिटल साक्षरता, सिंचाई, उद्यानिकी आदि के लिए कार्य किए जाने हैं। गांवों में सड़कों की व्यवस्था को दुरुस्त किया जाएगा। लोगों का जीवनस्तर सुधारने के लिए कई एनजीओ और विभागों की मदद ली जाएगी। ये सभी वह गांव हैं जो अर्द्धशहरी इलाकों की श्रेणी में आते हैं। इन गांवों में विकास कार्य जल्द शुरू किए जाएंगे। रानीपोखरी क्लस्टर के बाद अन्य गांवों को चिह्नित किया जाएगा। 
 

निकाय परिसीमन के कारण हुई थी देरी 

शुरूआत में इस योजना के तहत डोईवाला नगर पंचायत से सटे कुछ गांवों को भी शामिल किया गया था। यहां काम भी शुरू हो गया था, लेकिन परिसीमन के तहत ये अठूरवाला, भानियावाला आदि गांवों के नगर पंचायत में शामिल होने से सभी काम रोक दिए गए। उसके बाद अलग से ग्राम पंचायतों की सूची बनाई गई। 

आर्थिकी सुधारने को मशरूम उत्पादन 
इन गांवों के लोगों की आर्थिकी सुधारने के लिए विभिन्न कारोबार भी शुरू किए जाएंगे। इनमें कृषि से जुड़े कारोबार को चुना गया है। वर्तमान में यहां लोगों को मशरूम उगाने और इसके विपणन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

ये ग्राम पंचायतें हैं रूर्बन मिशन में 

रानीपोखरी ग्रांट, रानीपोखरी मौजा, रैनापुर, माजरी ग्रांट, जीवनवाला, भोगपुर, सारंदरवाला, बागी, कोडसी, रखवाल गांव, गडूल गांव। 

ये होने हैं प्रमुख कार्य 
24 घंटे बिजली पानी 
डिजिटल साक्षरता 
परिवहन व्यवस्था 
जीवनस्तर सुधारना 
सिंचाई, कृषि, उद्यानिकी 
आंतरिक और लिंक मार्गों का सुदृढ़ीकरण 
आर्थिकी सुधार के लिए काम 

Post A Comment: