ऋषिकेश 16 जुलाई 2019 को वरुण सृष्टि कल्याण ट्रस्ट द्वारा गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर तपोवन ऋषिकेश, उत्तराखंड में ‘वृक्षारोपण’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसका मुख्य उद्देश्य पर्यावरण एवं जल संरक्षण के लिए अति आवश्यक वृक्षारोपण को जन-सहभागिता के द्वारा बढ़ावा देना था । इस क्रम में ट्रस्ट के अंतर्गत संचालित अखण्ड महायोग के संस्थापक महायोगी पूज्यनीय स्वामी अखण्डानन्द जी के द्वारा वृक्षारोपण अभियान प्रारम्भ किया गया। इस अवसर पर गणमान्य स्वामी महंत प्रदीप दास जी, कपिल जी निरंजनानंद, श्री दिलीप मिश्रा, सुशील मिश्रा, देवेंद्र अग्रवाल जी, सुरेश श्रीवास्तव जी, आशुतोष श्रीवास्तव, अरविन्द रैना, अरविन्द यादव, अभ्युदय, कृष्ण शरण इत्यादि के साथ ही, साधकगणों एवं अन्य सभी जनों ने भारी वर्षा में सैकड़ों वृक्षों का रोपण गुरु चरणों को समर्पित गुरु पूर्णिमा पर तपोवन क्षेत्र में किया और आज गुरु पूर्णिमा के अवसर को इस अभियान को सफल बनाया ।

इस अवसर पर स्वामी अखंडानन्द जी ने कहा कि एक वृक्ष सभी रोपित करें । देश के सवा सौ करोड़ देशवासी यदि यह संकल्प ले लें तो उनके इस एक मात्र संकल्प से ही एक बड़ी क्रांति पर्यावरण संरक्षण एवं जल संरक्षण की दिशा में हो सकती है इस में सहयोगी संस्था टी.एच.  डी.सी. इण्डिया लिमिटेड द्वारा पूर्ण सहयोग मिला। हम उनके सहयोग के लिए बहुत आभारी हैं।

आज का कार्यक्रम इसी सदविचार से आयोजित किया गया है जहां साधकगणों, वरुण सृष्टि कल्याण ट्रस्ट से जुड़े हुये सहयोगियों के साथ ही साथ आम जन भी इस मुहिम से जुड़ सकें एवं जन-कल्याण की भावना से ट्रस्ट द्वारा शुरू किए गए प्रकृति के प्रति अपने कर्तव्यों के निर्वहन के रूप में संचालित इस अभियान में अपनी भागीदारी एवं यथा संभव सहयोग किसी भी रूप में दे सकें जिससे आने वाले वर्षों में पर्याप्त संख्या में वृक्ष तैयार हो सके और पर्यावरणीय संतुलन बना रहे।

वरुण ट्रस्ट को इस दिशा में कार्यरत और सकारात्मक सोच रखने वाले स्वयंसेवकों, संस्थानों, सरकारी विभागों एवं जन-कल्याण की भावना रखने वाले सहृदयजनों के सहयोग की महती आवश्यकता है जिससे इस दिशा में अपेक्षित प्रगति हो सके।

स्वामी अखण्नन्द जी ने कहा कि वरुण ट्रस्ट द्वारा उपलब्ध सीमित संसाधनों एवं लोगों द्वारा प्राप्त सहयोग के आधार पर उक्त दिशा में कार्य किया जा रहा है। जन कल्याण के लिए संकल्पित इस प्रयास में लोगों के यथा संभव सहयोग प्राप्ति हेतु ट्रस्ट आह्वान करता है। इस कार्यक्रम में अतिथिगणों, ट्रस्ट के साथियों सहित लगभग 20 लोगों की कार्यक्रम में सहभागिता रही। स्वामी अखंडानंद जी ने सभी के सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

Post A Comment: