बर्मिंघम: मेजबान इंग्लैंड आईसीसी विश्व कप 2019 के फाइनल में पहुंच गया है। इंग्लैंड ने गुरुवार को दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से करारी शिकस्त दी। बर्मिंघम के एजबेस्टन मैदान पर खेले इस मैच में इंग्लैंड ने पहले शानदार गेंदबाजी और फिर बेहतरीन बल्लेबाजी की। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 223 रन की चुनौती पेश की। जवाब में इंग्लैंड ने 32.1 ओवर में दो विकेट गंवाकर इस लक्ष्य को आसानी से हासल कर लिया। इंग्लैंड की अब खिताब के लिए भिड़ंत 14 जुलाई को न्यूजीलैंड से भिड़ंत होगी। इंग्लैंड की टीम चौथी बार फाइनल में पहुंची है। वहीं, मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया आठवीं बार फाइनल में पहुंचने से रह गई। ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहली बार सेमीफाइनल में हार का मुंह देखना पड़ा है। इंग्लैंड 1979, 1987 और 1992 में फाइनल तक पहुंचा लेकिन विश्व कप नहीं जीत सका था। हालांकि, इस बार मेजबान टीम को शुरू से खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। अब इंग्लैंड और न्यूजीलैंड का फाइनल में पहुंच जाने से वनडे क्रिकेट को नया चैंपियन मिलना तय हो गया है। दरअसल, यह दोनों टीमें कभी भी विश्व खिताब अपने नाम नहीं कर सकी हैं।
लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने शानदार शुरुआत की। पारी का आगाज करने आए जेसन रॉय (85) और जॉनी बेयरस्टो (34) ने पहले विकेट के लिए 124 रन की साझेदारी की। दोनों ने शुरू से जमकर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की धुनाई की। बेयरस्टो की तुलना में रॉय ने तीज से रन जुटाए। इस साझेदारी को 18वें ओवर की दूसरी गेंद पर पैट कमिंस ने बेयरस्टो को एलबीडब्ल्यू आउट कर तोड़ा। उन्होंने 43 गेंदों की अपनी पारी में 5 चौके लगाए। इसके बाद रॉय ने जो रूट (नाबाद 49) के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 23 रन जोड़े।
रॉय शतक के करीब जा रहे थे मगर 20वें ओवर ओवर की चौथी गेंद पर विकेट के पीछे आउट हो गए। हालांकि, रॉय को अंपायर द्वारा आउट देने का फैसला काफी विवादित रहा। क्योंकि रीप्ले में दिखा कि गेंद उनके बल्ले से लगकर विकेकीपर एलेक्स कैरी के हाथों में नहीं गई थी। रॉय ने 65 गेंदों की अपनी पारी में 9 चौके और 5 छक्के मारे। यहां से रूट और कप्तान इयोन मॉर्गन (नाबाद 45) ने मोर्चा संभाला और टीम को जिताकर लौटे। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 79 रन की अविजित साझेदारी की। मॉर्गन ने चौका जड़कर इंग्लैंड को जीत दिलाई। रूट ने 46 गेंदों का सामना कर 8 चौके जमाए। वहीं, मॉर्गन ने 39 गेंदें खेलीं और 8 चौके मारे। 

Post A Comment: