ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश की ओर से हरिद्वार के सिडकुल स्थित एक्यूम्स ड्रग्स एंड फार्मास्युटिकल  लिमिटेड कंपनी में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें कंपनी के कर्मचारियों ने बढ़चढ़कर प्रतिभाग किया। इस दौरान उन्होंने रक्तदान महादान का संकल्प भी लिया। एम्स की ओर से आयोजित स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में कुल 171 लोगों ने पंजीकरण कराया, जिनमें से आवश्यक जांच के बाद  136 लोगों ने रक्तदान किया। इस अवसर पर अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि रक्तदान से किसी भी जरूरतमंद को नया जीवन दिया जा सकता है। लिहाजा प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति को नियमिततौर पर रक्तदान अवश्य करना चाहिए। एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत ने कहा कि जीवनदान देने वाले दान से बढ़कर कोई दूसरा दान नहीं हो सकता। उन्होंने बताया कि कईदफा समय पर रक्त की उपलब्धता नहीं होने से बीमार व दुर्घटनाओं में घायल होने वाले लोग अपनी जान गवां बैठते हैं, लिहाजा रक्तदान के लिए अन्य लोगों को भी लिए जागरुक किया जाना चाहिए। इसी जनजागरण मुहिम के तहत एम्स संस्थान की ओर से उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में नियमिततौर पर स्वैच्छिक रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। एम्स की ब्लड बैंक प्रभारी डा. गीता नेगी ने बताया कि संस्थान की ओर से स्वैच्छिक रक्तदान शिविर के आयोजन का उद्देश्य लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करना है,जिससे जरूरतमंद लोगों को समय पर रक्त उपलब्ध कराया जा सके और अमूल्य जीवन की सुरक्षा की जा सके। इस अवसर पर एक्यूम्स ड्रग्स एंड फार्मास्युटिकल लि. के प्लांट प्रभारी अमित कौशल, डा. निरंजन के अलावा एम्स की ओर से डा.ईशा, डा.रंजन, डा. सौरभ, अंजू ढौंडियाल, ओम प्रकाश नेगी,विनोद थपलियाल,प्रेम,देवेंद्र, इंदू, हिमांशु, रीता आदि मौजूद थे ।

Post A Comment: