ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के कम्युनिटी एंड फेमिली मेडिसिन विभाग की ओर से विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में संस्थान द्वारा संचालित विभिन्न चिकित्सालयों में पौधरोपण अभियान चलाकर प्रकृति व पर्यावरण संवर्धन का संरक्षण दिया। इसके साथ ही आयोजित कार्यक्रम में एमबीबीएस इंटर्नस व एमपीएस के विद्यार्थियों ने प्रदूषण को रोकने  के लिए साइक्लिंग करने और पॉलीथिन का प्रयोग नहीं करने का सामुहिक संकल्प भी लिया। एम्स के सामुदायिक एवं पारिवारिक चिकित्सा विभाग की ओर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र थानो व रायवाला में गुलमोहर व अमलतास आदि प्रजातियों के पौधे रोपकर लोगों को पर्यावरण संवर्धन में सहभागिता निभाने का संदेश दिया। उधर, दूसरी ओर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत की पहल पर कम्युनिटी एंड फेमिली मेडिसिन डिपार्टमेंट में एमबीबीएस इंटर्नस व मास्टर ऑफ पब्लिक हेल्थ के विद्यार्थियों ने पोस्टरों के माध्यम से पेड़ों को बचाने और हरियाली को बढ़ाने का संदेश दिया। डीन एवं विभागाध्यक्ष प्रो. सुरेखा किशोर की देखरेख में आयोजित कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को व्यक्तिगततौर पर प्रदूषण की रोकथाम में बढ़ृ चढ़कर सहभागिता का आह्वान किया गया। इस अवसर पर डा. रंजीता कुमारी के निर्देशन में विभाग के जूनियर रेजिडेंट डा. सेनकाधीर, डा. कविता, डा. आयुषि ने उन्हें प्रदूषण की रोकथाम के उपाय बताए। उन्होंने बताया कि पर्यावरण को बचाने के लिए हमें निजीतौर पर विभिन्न गतिविधियों के लिए आगे आना होगा साथ ही इसके लिए दूसरे लोगों को भी प्रेरित करना होगा। इस दौरान संस्थान के विद्या​र्थियों ने आवागमन के लिए साइकिल का इस्तेमाल करने, प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल नहीं करने, खरीदारी के लिए खुद का बैग लेकर जाने, कूड़ा-कचरा केवल डस्टबिन में फेंककर आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखने, धूम्रपान नहीं करने का सामुहिक संकल्प भी लिया। साथ ही उन्होंने इनडोर वायु प्रदूषण को रोकने के लिए एलपीजी गैस का उपयोग करने और हर साल कम से कम एक पौधा रोपने और उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी की प्रतिज्ञा भी ली। इस अवसर पर डा. नेहा,डा.कंचन, डा.सेनकाधीर, डा. दीपक, डा.क्रांति, डा.कविता,डा.आशुतोष,डा. दीप्ति, डा. आयुषि,डा. आकांक्षा के अलावा एमबीबीएस इंटर्नस व मास्टर ऑफ पब्लिक हेल्थ (एमपीएस) स्टूडेंट्स मौजूद थे।

Post A Comment: