ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में मंगलवार को विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर संस्थान के अधिकारियों व  कर्मचारियों ने पर्यावरण संवर्धन के लिए पौधरोपण अभियान चलाने का संकल्प लिया। इस अवसर पर छह प्रजातियों के दर्जनों पाम पौधों का रोपण किया गया। मंगलवार को संस्थान में आयोजित कार्यक्रम का एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने पौधरोपण कर विधिवत शुभारंभ किया। इस अवसर पर निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने ग्लोबल वार्मिंग की समस्या का मुख्य कारण लगातार जारी पेड़ों की कटान व अनियोजित विकास को बताया। उन्होंने बताया कि पेड़-पौधों के संरक्षण से ही प्राणवायु को स्वच्छ रखा जा सकता है और इसी से जीवन का संरक्षण हो सकता है। निदेशक प्रो. रवि कांत ने सभी से आह्वान किया कि प्रत्येक व्यक्ति को पौधरोपण की मुहिम में शामिल होना होगा, उन्होंने कहा कि धरा को हरा भरा बनाकर ही पर्यावरणीय असंतुलन से होने वाली घटनाओं से बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि विश्व पर्यावरण दिवस इस वर्ष वायु प्रदूषण को रोकना थीम पर मनाया जा रहा है। जबकि बीते साल इसकी थीम प्लास्टिक का उपयोग कम करना था। निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने बताया कि प्लास्टिक का कम से कम उपयोग व पौधों के अधिकाधिक रोपण से ही जीवन पर मंडरा रहे संकट को कम किया जा सकता है। इस अवसर पर मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रोफेसर मनोज गुप्ता, फार्माकोलॉजी विभागाध्यक्ष डा. शैलेंद्र शंकर हांडू, डिपार्टमेंट ऑफ नियोनैटोलॉजी एचओडी श्रीपर्णा बासू, अधिशासी अभियंता एमपी सिंह,डा.प्रदीप अग्रवाल, प्रशासनिक अधिकारी शशिकांत आदि ने पौधरोपण किया। इस अवसर पर छह प्रजातियों एरिका पाम,रैफिस पाम,ऐराकेरिया,फोनिक्स पाम,सप्लेरा,सन ऑफ इंडिया के इंडोर प्लांट्स का रोपण किया गया। इस दौरान हास्पिटल प्रशासन से डा.अनुभा अग्रवाल, डीएमएस डा.लता गोयल, डा.संतोष कुमार आदि मौजूद थे।

Post A Comment: