नई दिल्ली: वेस्टइंडीज के खिलाफ खराब शुरुआत के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई टीम हार को जीत में तबदील करने में कामयाब रही है। ऑस्ट्रेलिया के लिए जीते के हीरो रहे नाथन कुल्टर नाइल और तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क। एक ने बल्ले के साथ वेस्टइंडीज के छक्के छुड़ा दिए और दूसरे ने ऐसा पंजा मारा कि मैच के अंत तक कंगारू टीम ने शिकंजा बनाए रखा। इस मैच में मिचेल स्टार्क ने घातक गेंदबाजी करते हुए पांच विकेट हासिल किए।
इस प्रदर्शन के दौरान स्टार्क ने सबसे पहले ये कीर्तिमान अपने नाम किया। स्टार्क वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे तेज 150 विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज बन गए हैं। स्टार्क ने ये कारनामा करने के लिए मात्र 77 वनडे मैचों का समय लिया। उन्होंने पाकिस्तान के महान स्पिनर सकलैन मुश्ताक के 78 मैचों में 150 विकेट के रिकॉर्ड को तोड़ा और ये रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। इस सूची में स्टार्क और सकलैन के बाद ट्रेंट बोल्ट 81 मैचों में 150 विकेट और ब्रेट ली 82 मैचों में 150 विकेट हासिल करने वाले खिलाड़ी हैं।
एक और बेहद खास रिकॉर्ड
इसके अलावा मिचेल स्टार्क दुनिया भर में सक्रिय मौजूदा क्रिकेटरों में एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो विश्व कप मैचों में 5 विकेट लेने का कमाल किया है। उनसे पहले ये कमाल गैरी गिलमोर, अशंथा डी मेल, वेसबर्ट ड्रेक्स, ग्लेन मैकग्रा और शाहिद अफरीदी के नाम दर्ज था, जिनमें से कोई भी खिलाड़ी इस समय क्रिकेट नहीं खेल रहा है।
इस विश्व कप में अब तक कितने विकेट
स्टार्क इस विश्व कप में भी सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। उनसे आगे न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज मैट हेनरी हैं जिन्होंने सात विकेट चटकाए हैं जबकि स्टार्क दो मैचों में 6 विकेट झटक चुके हैं और हेनरी के पीछे हैं। इस मैच से पहले स्टार्क ने अफगानिस्तान के खिलाफ भी अच्छी गेंदबाजी की थी लेकिन उस मैच में वो सिर्फ एक विकेट ही हासिल कर पाए थे।
आलोचकों को करारा जवाब
इस मैैच में उनके पांच विकेट हासिल करते ही उनके फॉर्म पर संशय करने वालों के मुंह पर ताला लग चुका है। बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज का इस तरह की फॉर्म में होना विरोधी टीमों के लिए खतरे का संकेत है। ऑस्ट्रेलिया का अगला मैच भारत से है। ऐसे में अगर भारत को कंगारूओं की चुनौती से पार पाना है तो स्टॉर्क से निपटने का तरीका ढ़़ूंढना होगा।

Post A Comment: