नई दिल्ली I प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को पूछताछ के लिए तलब किया है. वाड्रा को पूछताछ के लिए गुरुवार को बुलाया गया है. सूत्रों के मुताबिक, ईडी की टीम वाड्रा से लंदन की प्रॉपर्टी और उनके करीबी संजय भंडारी के बारे में सवाल कर सकती है. ईडी का कहना है कि लंदन में प्रॉपर्टी को गलत तरीके से खरीदा गया है और इसमें कालेधन का इस्तेमाल किया गया है.

इससे पहले ईडी ने दिल्ली हाई कोर्ट से रॉबर्ट वाड्रा की जमानत खारिज करने की अपील की थी. ईडी की इस अर्जी पर हाई कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को नोटिस भी जारी किया है और कहा है कि क्यों न उनकी जमानत रद्द कर दी जाए. ईडी की तरफ से कोर्ट में कहा गया था कि क्योंकि रॉबर्ट वाड्रा जानते हैं उनकी गिरफ्तारी नहीं की जा सकती इसीलिए वह किसी सवाल का जवाब नहीं दे रहे हैं. ऐसे में उनकी जमानत खारिज होना जरूरी है, क्योंकि ईडी उनको हिरासत में लेकर पूछताछ करना चाहती है. इन तमाम दलीलों पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने वाड्रा को नोटिस भेजते हुए केस की अगली सुनवाई के लिए 17 जुलाई का दिन तय किया है.

बता दें कि निचली अदालत ने बगैर अनुमति देश न छोड़ने और जरूरत पड़ने पर जांच में शामिल होने की शर्त पर वाड्रा को एक अप्रैल को अग्रिम जमानत दी थी. ईडी ने निचली अदालत के इस फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती दी है.

क्या है केस

यह पूरा केस विदेशों में रॉबर्ट वाड्रा की 19 लाख पाउंड की संपत्ति के मालिकाना से जुड़ा है. जिसमें टैक्स से बचने के लिए अघोषित विदेशी संपत्ति होने का भी आरोप है. ईडी पहले भी रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ कर चुकी है. उनसे अब तक कुल 58 घंटे पूछताछ हो चुकी है. ईडी का दावा है कि मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े इस मामले में रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ उनके पास दस्तावेज और ई-मेल की शक्ल में कई ठोस सबूत मौजूद हैं. ईडी का कहना है कि लंदन में प्रॉपर्टी को गलत तरीके से खरीदा गया है और इसमें कालेधन का इस्तेमाल किया गया है.

इस केस में फिलहाल सबसे अहम कड़ी संजय भंडारी है. संजय भंडारी से आयकर विभाग भी पूछताछ कर चुका है. सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग की जांच में रॉबर्ट वाड्रा से संजय भंडारी के लिंक जुड़ रहे हैं, जिनके आधार पर ईडी पूछताछ कर रही है. हालांकि, वाड्रा अब तक की पूछताछ में भंडारी से अपने किसी कारोबारी रिश्तों की बात नकार चुके हैं. जबकि ईडी दोनों के बीच क्या ताल्लुक रहे हैं, इस दिशा में काम कर रही है.

ईडी का आरोप है कि रॉबर्ट वाड्रा मनी लॉन्ड्रिंग केस से जुड़ी जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और न ही किसी सवाल का जवाब दे रहे हैं. लिहाजा, ईडी एक तरफ जहां वाड्रा की अग्रिम जमानत खारिज कराने का प्रयास कर रही है, वहीं अब एजेंसी ने पूछताछ के लिए तलब किया है. ऐसे में अगर वाड्रा पूछताछ के लिए पेश नहीं होते हैं तो ईडी इस आधार पर हाई कोर्ट में अपना पक्ष मजबूती से रख सकती है और वाड्रा की अग्रिम जमानत पर भी संकट पैदा हो सकता है.

Post A Comment: