हिमालयन मैनेजमेंट एंड डेवलपमेंट रिसोर्स  इंस्टीट्यूट ने टीएचडीसी सेवा के साथ शैक्षिक विकास कार्यक्रम की शुरुआत , तेरी और ऋषिकेश के 35 शिक्षकों ने लिया हिस्सा

ऋषिकेश। उत्तराखंड शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए हिमालयन मैनेजमेंट एंड डेवलपमेंट रिसोर्स  इंस्टीट्यूट ने टी एच डी सी सेवा के साथ निभाए शैक्षिक विकास कार्यक्रम का शुभारंभ किया जिसमें शिक्षा में रचनात्मकता एवं नवाचार विषय पर  आयोजित कार्यशाला में  आईआईटी रुड़की के प्रबंध विभाग के डॉक्टर विनय शर्मा एवं डॉ रजत अग्रवाल ने शिक्षा में रचनात्मकता एवं नवाचार की उपयोगिता एवं महत्व पर प्रकाश डाला, इस दौरान विशेषज्ञों ने शिक्षा को रुचिकर बनाने और अध्यापन में नए प्रयोगों की आवश्यकता पर जोर दिया , साथी विद्यालय के शिक्षकों को सृजनात्मकता के गुर भी सिखाए दूसरे सत्र में स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय जॉली ग्रांट की प्रोफेसर श्वेता सेठी ने व्यक्तित्व और मनोवृति विषय पर  कार्यशाला शिक्षकों को कार्य करने के गुर सिखाए दो दिवसीय इस कार्यक्रम में हाई स्कूल और टीएसडीसी इंटरमीडिएट 35 शिक्षकों ने प्रतिभाग , इस अवसर पर बोलते हुए टीएचडीसी एजुकेशन सोसायटी के उपाध्यक्ष एनके प्रसाद सचिव आशुतोष कुमार आनंद और हिमालयन मैनेजमेंट एंड डेवलपमेंट रिसोर्से इंस्टीट्यूट के सचिव डॉक्टर आदित्य गौतम शिक्षा के क्षेत्र में इस तरह के प्रयोगों से छात्रों  के मानसिक विकास के साथ साथ शिक्षा को भी रुचिकर बनाया जा सकता है।

Post A Comment: