ऋषिकश । अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में मंगलवार को वर्ल्ड मेन्सट्रुवल हाईजीन- डे मनाया गया। इस अवसर पर इट्स टाइम फॉर एक्शन थीम पर श्रमिक महिलाओं, महिला रोगियों व उनके तीमारदारों को माहवारी के समय महिलाओं की समस्याओं के प्रति जागरुक किया गया और समाधान बताए गए। मंगलवार को एम्स ऋषिकेश व लायंस क्लब ऋषिकेश रॉयल के संयुक्त तत्वावधान में वर्ल्ड मेन्सट्रुवल हाईजीन दिवस पर एम्स परिसर में निर्माण स्थल पर कार्य में जुटी महिला श्रमिकों व गाइनी ओपीडी में मौजूद महिला मरीजों, उनके तीमारदारों को पीरियड्स के दौरान महिलाओं को होने वाली समस्याओं से निपटने की जानकारी दी गई। साथ ही महिलाओं को अपनी समस्याओं के समाधान को खुलकर आगे आने के लिए प्रेरित किया गया। इस अवसर पर अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्राेफेसर रवि कांत ने बताया ​कि स्वस्थ एवं निरोगी रहने के लिए महिलाओं में व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति जागरुकता जरुरी है।  उन्होंने वर्ल्ड मेन्सट्रुवल हाईजीन डे को लेकर लायंस क्लब ऋषिकेश रॉयल द्वारा की गई इस पहल की सराहना भी की। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने स्वच्छता से जुड़े कार्यक्रमों में निरंतरता लाने पर जोर दिया, कहा ​कि सतत प्रयासों से ही इस विषय पर समाज को जागरुक किया जा सकता है। कार्यक्रम में मिसेज इंडिया वर्ल्ड वाइड-2019 के लिए चयनित फाइनलिस्ट गंगा​ विहार ऋषिकेश निवासी स्वाति टुटेजा बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुईं। इस अवसर पर मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रो.मनोज गुप्ता, गाइनी विभाग की डा.राजलक्ष्मी,अस्पताल प्रशासन से सहायक आचार्य डा. अनुभा अग्रवाल,डा.रश्मि, डा.शिल्पा ने महिलाओं को इस कार्यक्रम का महत्व बताया। साथ ही बताया कि महिलाओं द्वारा व्यक्तिगत स्वच्छता पर ध्यान नहीं दिए जाने से उन्हें किस तरह की बीमारियों से ग्रसित होना पड़ सकता है। उन्होंने महिलाओं को माहवारी से जुड़ी तमाम तरह की भ्रांतियों को आधारहीन बताया। उन्होंने बताया कि महिलाओं को पीरियड्स के दौरान सामान्य कपड़े का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, ऐसे में डिस्पोजिवल नैपकीन का उपयोग करना चाहिए,जिसे दिन में कईदफा बदला जाना चाहिए। इस दौरान लायंस क्लब ऋषिकेश रॉयल की ओर से अस्पताल के चिकित्सकों को स्मृति चिह्न भेंट किए गए, जबकि श्रमिक महिलाओं व गाइनी ओपीडी में महिला मरीजों को सेनेट्री नैपकीन का वितरण किया गया। कार्यक्रम के आयोजन में लायंस क्लब से धीरज मखीजा, पंकज चंदानी, अतुल जैन, अभिनव गोयल, योगिता, पूजा, स्वाति, अस्पताल प्रशासन से डीएमएस प्रेरणा बब्बर, लता गोयल,स्त्री रोग विभाग की डा. किरन, इंजीनियरिंग विभाग के संजय त्यागी आदि ने सहयोग किया।

Post A Comment: