कबीर की वाणी सनातन धर्म  मे सर्वोपरि  -अर्थनाम साहिब
ऋषिकेश,24 मई। कबीर की वाणी का उल्लेख सभी धार्मिक ग्रंथों में किया गया है इसलिए कबीर के विचारों को  सर्वोपरि माना गया है। यह विचार अनंत विभूषित पंत  श्री   अर्ध  नाम साहिब आचार्य कबीर पंथ धर्म स्थान खरसिया छत्तीसगढ़ सतगुरु कबीर लहरतारा धाम वाराणसी काशी यहां लक्ष्मण झूला मार्ग पर स्थित कबीर चौरा आश्रम में प्रदीप दास की अध्यक्षता में आयोजित सम्मान समारोह के दौरान व्यक्त करते हुए कहा कि संत कबीर ने सभी को जात पात से दूर रहकर मानव सेवा का संदेश दिया है ।उन्होंने कहा कि  आज भारत ही नहीं विश्व में संत कबीर के उपदेशों व दोहों  से  प्रेरणा लेकर उनके अनुयाई बने जिसके कारण आज उनके द्वारा दिए गए संदेशों का प्रचार प्रसार कर रहे हैं जिन्होंने सनातन धर्म समाज सुधारक का कार्य भी किया है इस अवसर पर मंहत कपिल मुनि उर्फ़ भीष्म प्रताप  , राजेंद्र दास ,वेदप्रकाश  धीगंडा़, सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Post A Comment: