ऋषिकेश,07मार्च। एम्स निष्कासित कर्मचारी संघर्ष मोर्चे ने  एम्स प्रशासन से  निकाले गए कर्मचारियों को पुनः बहाल किए जाने की मांग करते हुए अपने आंदोलन को और उग्र किए जाने की चेतावनी दी है। जो कि शुक्रवार को धरना स्थल से कोयल घाटी तक  एम्स प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे ।बृहस्पतिवार को  प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान मोर्चा के अध्यक्ष  दीपक रयाल ने कहा कि एम्स  मैं आउटसोर्सिंग के माध्यम से रखे गए बेरोजगार लोगों को पुनः बहाल के जाने के लिए धरना भी दिया जा रहा है क्योंकि प्रशासन ने अभी तक 49 लोगों को  ने बिना कारण बताए एम्स से बाहर का दरवाजा दिखा दिया गया है । जिसे लेकर कर्मचारियों में  रोष व्याप्त है ।और इसी को लेकर कर्मचारी पिछले 12 दिनों से धरना दे रहे हैं। दीपक ने कहा कि एम्स प्रशासन निकाले गए कर्मचारियों के साथ दोहरा रवैया अपना रहा है  उन्होंने कहा कि उनके द्वारा किया जा रहे आंदोलन को अन्य राजनीतिक सामाजिक संगठनों का भी सहयोग प्राप्त हो रहा है और प्रदर्शन के दौरान सभी संस्थाएं प्रतिभाग करेंगे पत्रकार वार्ता में डीएस गुसाईं, विक्रम भंडारी, नवीन शर्मा, सुनील रतूड़ी, रुक्म पोखरियाल ,अमित बलोनी, अरविंद हटवाल ,वेद प्रकाश शर्मा ,वीरेंद्र चौधरी भी उपस्थिति थे।

Post A Comment: