अहमदाबाद। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बेरोजगारी, किसानों की समस्या, नोटबंदी, जीएसटी और आतंकी मसूद अजहर की वर्षों पहले हुई रिहाई के मुद्दों को लेकर मंगलवार कोप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और दावा किया कि इस लोकसभा चुनाव में सच की जीत होगी और मोदी एवं नफरत की हार होगी। कांग्रेस की एक जनसभा में गांधी ने यह भी कहा कि एक तरफ हर जगह नफरत फैलाई जा रही है और लोगों को बांटा जा रहा है तथा दूसरी तरफ यह सरकार 15 सबसे अमीर लोगों को फायदा पहुंचा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘एक तरफ नफरत है यानी गोडसे है। दूसरी तरफ प्यार है यानी महात्मा गांधी और गुजरात का इतिहास है। जीत महात्मा गांधी की होगी।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया, ‘‘इस चुनाव में सच्चाई की जीत होने वाली है और नरेंद्र मोदी और नफरत की हार होने वाली है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ कुछ शक्तियां इस देश को कमजोर करने में लगी हैं। इतिहास में पहली बार चार न्यायाधीश संवाददाता सम्मेलन कर कहते हैं कि उन्हें काम नहीं दिया जा रहा है। वे न्यायाधीश लोया का नाम लेते हैं।’’

गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘देश की हर संस्था पर आक्रमण किया जा रहा है। लोगों को बांटा जा रहा है, नफरत फैलाई जा रही है। असली मुद्दे कई हैं। सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है। आज अलग-अलग प्रदेशों में युवा रोजगार के लिए भटक रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी 15 सबसे अमीर लोगों के साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ करते हैं, लेकिन किसानों का एक रुपये कर्ज माफ नहीं करते हैं। फसल बीमा योजना का फायदा भी उन्ही 15 लोगों की कंपनियों के पास चला जाता है।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में हमने 10 दिनों के भीतर कर्जमाफी की बात की थी। हमने सरकार बनने के दो दिनों के अंदर कर्ज माफ कर दिया। दुख होता है कि गुजरात में किसानों का कर्ज माफ नहीं कर पाए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी जी ने बिना किसी से पूछे नोटबंदी की। गुजरात के छोटे दुकानदार जो रीढ़ की हड्डी है उसे एक दिन में तोड़ दिया। करोड़ों लोगों को बेरोजगार किया। वह कहते हैं कि कालेधन के खिलाफ लड़ाई्र लड़ रहा हूं। मैं पूछना चाहता हूं कि क्या आपने बैंकों के बाहर लगी लाइन में नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, अनिल अंबानी या किसी कालेधन वाले को देखा।’’

Post A Comment: