112करोड़ की 12योजनाओं का भी उद्धघाटन किया
ऋषिकेश,07मार्च। उत्तराखंड लाइव स्टॉक डेवलपमेंट बोर्ड पशुपालन विभाग द्वारा राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना अंतर्गत भारत में राजकीय क्षेत्र की पहली लिंग वर्गीकृत वीर्य उत्पादन प्रयोगशाला का लोकार्पण के 112 करोड़ की  12 परियोजनाओ का भी प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पशु पालन राज्यमंत्री रेखा आर्य , विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद्र अग्रवाल ने संयुक्त रूप से किया ।बृहस्पतिवार श्यामपुर में बीएफ उत्पादन केंद्र में आयोजित एक समारोह के दौरान गोकुल मिशन योजना के अंतर्गत पहली  लिंग  वर्गीकृत  वीर्य उत्पादन प्रयोगशाला के लोकार्पण उपरांत प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थिति को संबोधित करते हुए कहा कि इस योजना के बाद सड़कों पर हो रही पशुओ की अकाल मौत पर भी  रोक लग मंत्री ।जो कि समय से पूूर्व बनकर तैयार हुआ है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड प्रदेश में 9 लाख से अधिक  गाय हैं जिसमें विदेशी नस्ल की भी है । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि  हमने इस केंद्र में 6 बद्री नस्ल के मवेशियों को भी उपलब्ध करवाया है  । जो कि भविष्य में काफी उपयोगी सिद्ध होगी।
प्रदेश की पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि आज हम देश के 28राज्यो मे जहां यह प्रयोग शाला प्रारंभ हुई है  योजना के अंतर्गत जो किसान डेयरी फार्म का कार्य कर रहे हैं ,उन्हें काफी लाभ होगा। इसका मूल मकसद बछडियों की तादाद बढ़ाना है ।जिससे  प्रदेश मे दूध उत्पादन कार्य तेजी से बढ़ सके। इसी के साथ इस योजना के अंर्तगत नर पशुओं की संख्या पर भी नियंत्रण होगा।उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए किसानों को क्रेडिट कार्ड भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं।
पशुपालन विभाग के सचिव आर.मीनाक्षी सुंदरम ने योजना की जानकारी देखें कहा कि उत्तराखंड राज्य पहला राज्य बना है  क्योंकि इस तकनीक को लागू कर रहा है इसका उद्देश्य राज्य मे उच्च कोटि के पशुओं को उपलब्ध करवाया जाना भी है।
 इस अवसर पर मुख्य अधिशासी अधिकारी डॉ एसएस नयाल, उत्तराखंड पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ के के जोशी, उत्तराखंड पशुपालन विभाग के सचिव डॉ आर मीनाक्षी सुंदरम नगर महापौर अनिता ममगांई भी उपस्थित थे।

Post A Comment: