ऋषिकेश। एम्स से निष्कासित कर्मचारी संघर्ष मोर्चा का धरना 19 दिन भी जारी रहा कर्मचारियों में एम्स प्रशासन के प्रति आक्रोश व्याप्त है एवं भविष्य में किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घट सकती है आज धरना स्थल पर अनेक सामाजिक संगठनों बुद्धिजीवियों राजनीतिक दलों राजनीतिक दलों द्वारा बढ़-चढ़कर आंदोलन को समर्थन दिया धरने पर कैप्टन बलवीर सिंह नेगी ने कहा कि एम्स भ्रष्टाचार की गढ़ में पूरा डूब चुका है इस पाप के घड़े को फोड़ने के लिए यदि हथियार उठाने पड़े तो वे पीछे नहीं हटेंगे। हमने देश हित के लिए सीमाओं पर अनेक लड़ाइयां लड़ी एवं दुश्मनों को पटखनी दी लेकिन आज देश के अंदर ही कुछ गद्दार हमारे युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं युवाओं की जवानी इन भ्रष्टाचारियों के कारण दर-दर की ठोकरें खा रही है ।कैप्टन ने कहा कि अपना पूरा जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित किया और अब यह सब अपनी आंखों से नहीं देख सकते एम्स निदेशक को चेतावनी देते हैं।कि जल्दी कि जल्दी इन युवाओं की बहाली नही की गयी तो युवाओं के भविष्य की लड़ाई को देश सुरक्षा की तर्ज पर लड़ना पड़ेगा ।आज धरने पर एम्स से निष्कासित कर्मचारियों ने बढ़-चढ़कर अपनी पीड़ा बयान की धरने पर पीड़ित पूजा  पटेल ने कहा कि हमें बिना किसी नोटिस के और और काम करते हुए हटाया गया ।अनिता भंडारी ने कहा कि मैंने अपने स्वर्णिम समय एमसी की सेवा में समर्पित कर दिया और आज मुझे सेवा से कब हटाया गया जब मेरे पास अन्य कहीं अवसर नहीं है ।धरने पर गोविंद ने कहा कि मैंने पूरे समर्पण के साथ अपनी नौकरी करी लेकिन मुझे आज उस समय हटाया गया जबकि घर के मेरी सेवा की बहुत जरूरत थी। धरने पर मोनिका ने कहा कि मैंने 6 साल 6 साल एम्स में सेवा दी और सेवा का इनाम मुझे तत्काल बहाली के रूप में मिला । धरने पर सुनील खंडूरी ने कहा कि मैंने 6 साल तक पूरी कर्तव्य निष्ठा के साथ एम्स में नौकरी करी मुझे बिना किसी नोटिस एवं सूचना के हटाया गया मेरे हटाने का एकमात्र कारण था कि मेरे पीछे किसी बड़ी शख्सियत का हाथ और पर्याप्त पैसे का ना होना ।धरने पर  दीपक रयाल ने कहा कि जब तक हम लोगों की बहाली नहीं की जाती हम अपने पूरे परिवार के साथ आमरण अनशन तक करेंगे।
धरने पर बेरोजगार संघ के सलाहकार इंजीनियर नवीन शर्मा ने कहा कि एम्स निदेशक को जल्द से जल्द कर्मचारियों को पक्ष रखने के लिए पहल करनी चाहिए एवम अनहोनी से बचने के लिए बीच का रास्ता निकलना चाहिए । आज समर्थन में आंदोलन कारी मंच के डी एस गुसाई, सलाहकार विक्रम भंडारी, राइट टू हेल्थ से अरविंद हटवाल ,अमित बलोनी रोहित चौबे दयाराम सोनू शिवा सिंह मनदीप सुनील खंडूरी पूजा कठैत गोविंद कंचन पापिन कुमार कुलदीप ममगाई, समर्थन देने वालों में रेखा रावत अटल सेना विकास रावत  गोवर्धन बलूनी युद्धवीर सिंह चौहान कमल किशोर थपलियाल मनोज बिष्ट पंकज सिंह चौहान शांति तड़ियाल मोनिका अनिल भंडारी सोना ज्योति मोनिका डेविड रामा मनीषा वर्मा सुमन विक्रम सिंह भंडारी आशुतोष डंगवाल आनंद सिंह तड़ियाल गीताराम उनियाल नागेंद्र जगदीप कंचन गुसाईं गोविंदा अशोक कुमार आराधना रूपा पवन कुमार जैन पवन नेगी आदि।

Post A Comment: