देहरादून। लोकसभा की पांचों संसदीय सीट पर टिकट की दावेदारी को लेकर युवा नए चेहरे और वरिष्ठ व अनुभवी के बीच जोर आजमाइश तेज हो गई है। वहीं, बदले हुए नए राजनीतिक माहौल में भाजपा की काट के लिए कांग्रेस ने रणीति शुरू कर दी है। इसके तहत बूथ स्तर पर युवाओं को सक्रिय किया जा रहा है। 

सैनिक बहुत उत्तराखंड राज्य। पहले पुलवामा में आतंकी हमलों में सीआरपीएफ जवानों की शहादत से उपजे आक्रोश और फिर पाकिस्तान पर वायुसेना की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जन भावनाओं के ज्वार को लेकर सतर्क भाजपा। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का दून पहुंचकर शहीद सैनिकों के परिजनों का सम्मान। यानी कुल मिलाकर भाजपा की इस सक्रियता ने कांग्रेस के माथे पर बल डाल दिए हैं। 

अब प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस प्रदेश में भाजपा की रणनीतिक काट के लिए जिलों से लेकर बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं को नए सिरे से सक्रिय करने जा रहा है। इसमें सैनिकों, पूर्व सैनिकों-अ‌र्द्धसैनिकों को साधने के साथ ही भाजपा पर हमले तेज किए जाएंगे। 

मिशन 2019 को लेकर शिद्दत से तैयारी में जुटी कांग्रेस उत्तराखंड में भाजपा की तैयारियों को लेकर अलर्ट हो गई है। दरअसल देश में बने माहौल को लेकर भाजपा पूरी तरह से सतर्क है। सत्तारूढ़ दल ने नए माहौल को भांपकर जिसतरह अपनी चुनावी रणनीति को धार देनी शुरू की है, कांग्रेस भी इसकी काट में जुट गई है। इसके तहत कांग्रेस पार्टी लोकसभा चुनाव में दमदार उपस्थिति का अहसास कराना चाह रही है। 

Post A Comment: