देहरादून I असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए बेहद महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का पूरे देश के साथ ही उत्तराखंड में भी शुभारंभ हो गया है। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और श्रम मंत्री डॉ.हरक सिंह रावत ने मंगलवार को 15 कामगारों को डेमो कार्ड वितरित कर योजना की औपचारिक शुरुआत की। 
योजना में अभी तक 10 हजार कामगारों ने पंजीकरण कराया है। एक वर्ष के भीतर पांच लाख कामगारों के पंजीकरण का सरकार ने लक्ष्य तय किया है। मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता दर्शन हॉल में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल, मुख्यमंत्री और श्रम मंत्री ने इस योजना को शुरू करने पर प्रधानमंत्री का आभार जताया।

कार्यक्रम में विधायक सुरेश राठौर, मंडी परिषद के अध्यक्ष गजराज सिंह बिष्ट, राज्य श्रम संविदा बोर्ड के अध्यक्ष शमशेर सिंह सन्याल, श्रम सचिव हरबंश सिंह चुग, कार्यवाहक श्रमायुक्त अनिल पेटवाल आदि मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री ने गरीबों की सुध लेते हुए इस योजना की शुरुआत की है। मजदूर कड़ी मेहनत करते हैं, जब 60 वर्ष की उम्र हो जाती है तो शरीर साथ नहीं देता है। कई बार ऐसा भी होता है कि संतान अपने बुजुर्ग माता पिता की देखभाल नहीं करती। ऐसे में श्रम योगी मानधन योजना से मिलने वाली पेंशन बहुत बड़ा सहारा होगी।

Post A Comment: