ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में शुक्रवार को तीसरा अंतरराष्ट्रीय इस्ट्रो एरॉय गाइनी टीचिंग कोर्स कार्यशाला का विधिवत शुभारंभ हो गया।  एम्स में यूरोपियन सोसाइटी ऑफ रेडिएशन ओंकोलॉजी व इंडियन सोसाइटी ऑफ रेडिएशन ओंकोलॉजी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सर्विक्स कैंसर आधारित इंटरनेशनल कार्यशाला का शुक्रवार को मुख्य अतिथि एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने विधिवत शुभारंभ किया। इस मौके पर निदेशक एम्स पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि वैक्सीन की उपलब्धता के कारण सर्विक्स कैंसर को पूरी दुनिया से समाप्त किया जा सकता है, मगर बावजूद इसके भारत में इस कैंसर से ग्रसित महिलाओं की संख्या बहुत अधिक है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि हमें इस तरह की कार्यशालाओं के माध्यम से वैक्सीनेशन को महिलाओं तक पहुंचाने व उन्हें जागरूक करने पर भी चिंतन करना चाहिए। निदेशक प्रो. रवि कांत ने कहा कि जागरूकता से ही देश को इस कैंसर से मुक्ति दिलाई जा सकती है। उन्होंने हर्ष जताया कि रेडियोथैरेपी की एडवांस तकनीक से कैंसर की बीमारी को ठीक किया जा सकता है। निदेशक एम्स प्रो.रवि कांत ने बताया कि संस्थान आगे भी इस तरह की कार्यशालाओं का आयोजन करता रहेगा, जिससे ज्ञान का आदान प्रदान हो और अधिकाधिक मरीजों को लाभ मिल सके।  कार्यशाला के समन्वयक व रेडिएशन ओंकोलॉजी विभागाध्यक्ष प्रो.मनोज गुप्ता ने बताया कि निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने करीब दो साल पहले संस्थान में पदभार ग्रहण किया था, तब अपेक्षाकृत एम्स ऋषिकेश में सुविधाएं निहायत कम थी। मगर महज दो वर्ष के कार्यकाल में उनके अथक प्रयासों से एम्स ऋषिकेश की गिनती उत्तर भारत के सबसे अच्छे अस्पतालों में होने लगी है। बताया कि एम्स निदेशक ने संस्थान के विकास के साथ आधुनिकीकरण पर जोर दिया है जिससे मरीजों को संस्थान में वल्र्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकें। आस्ट्रिया के कोर्स डायरेक्टर रिचर्ड पोर्टर ने बताया कि यूरोप की फैकल्टी भारत में इस तरह के कोर्स के आयोजन में पूर्ण सहयोग करेगी। इस अवसर पर डेनमार्क के कारी टेंडरप, फ्रांस की क्रिस्टिनी, बेल्जियम की मैलिसा, टाटा मैमोरियल हास्पिटल मुंबई के डा.उमेश महंत सेट्टी, डा.जैमिना, टाटा मैमोरियल बनारस के निदेशक डा.सत्यजीत प्रधान,एम्स दिल्ली के डा.डीएन शर्मा आदि ने व्याख्यान दिए। इस अवसर पर उप निदेशक (प्रशासन) अंशुमन गुप्ता, डीन एल्युमिनी प्रोफेसर बीना रवि, मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा.ब्रह्मप्रकाश,डा.एसपी अग्रवाल, डा.राजेश वशिष्ठ, डा जीबी गिरि, डा.किम जैकब मैनन, डा.संजीव मित्तल, डा.केपीएस मलिक, डा.सुनिल सैनी, डा.राजेश पसरीचा,डा.बलराम जीओमर, डा.दीपा जोसेफ, डा.स्वीटी गुप्ता, डा.रचित, डा.अजय आदि मौजूद थे।

Post A Comment: