नई दिल्ली I लोकसभा चुनाव से पहले दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी ने रविवार को दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यालय का घेराव किया. आम आदमी पार्टी का आरोप है कि दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने दिल्ली बीजेपी और दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष को खत लिखकर पूर्ण राज्य पर अपना पक्ष रखने की अपील की थी लेकिन दोनों ही पार्टियों में किसी से जवाब नहीं मिला.

आम आदमी पार्टी का दावा है कि अगर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलता है तो विकास के काम मे तेजी आएगी. इससे पहले अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता के नाम चिट्ठी लिखकर पूर्ण राज्य से होने वाले 11 फायदे भी लोगों को गिनाए थे.

AAP ने प्रदर्शन के दौरान गिनाए पूर्ण राज्य न होने के 3 बड़े नुकसान-

1. आज दिल्ली में महिलाएं अपनी सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर हैं मगर दिल्ली सरकार असहाय है क्योंकि लॉ एंड ऑर्डर केंद्र सरकार के अधीन आता है.

2. आज दिल्ली के छात्रों को 90 प्रतिशत नंबर लाने के बावजूद दिल्ली के ही कॉलेजों में दाखिला नहीं मिल पाता क्योंकि दिल्ली में कॉलेजों की कमी है और पूर्ण राज्य का दर्जा न होने की वजह से दिल्ली सरकार नए कॉलेज नहीं बना पा रही.

3. आज दिल्ली का पढ़ा-लिखा युवा बेरोजगार घूम रहा है. दिल्ली सरकार में लाखों वैकेंसी खाली पड़ी हैं लेकिन पूर्ण राज्य का दर्जा न होने की वजह से युवाओं को रोजगार देने का अधिकार दिल्ली सरकार के पास न होकर केंद्र सरकार के पास है.

आम आदमी पार्टी का कहना है कि केंद्र सरकार से दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की कई बार मांग की लेकिन केंद्र सरकार ने उनकी मांग पर कोई ध्यान नहीं दिया है. प्रदर्शन में मौजूद 'आप' कार्यकर्ताओं ने कहा कि दिल्ली आधा अधूरा राज्य है, इस कारण दिल्ली की सरकार को सभी शक्तियां प्राप्त नहीं हैं और इसलिए दिल्ली का पूर्ण विकास नहीं हो पा रहा है.

आपको बता दें कि सत्ता में आने से पहले ही आम आदमी पार्टी दिल्ली को पूर्ण राज्य देने की मांग करती आई है. 'आप' नेताओं का आरोप है कि बीजेपी और कांग्रेस अपने मेनिफेस्टो में दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा कर भूल गए. प्रदर्शन के इस सिलसिले में सोमवार, 11 मार्च को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता कांग्रेस दफ्तर का घेराव करेंगे.

Post A Comment: