देहरादून। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद उत्तरकाशी के मोहनलाल रतूड़ी का पार्थिव शरीर देहरादून स्थित उनके घर गया है. उनके पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन के लिए शहीद के घर में लोगों का हुजूम उमड़ा पड़ा. शहीद को हरिद्वार में सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी. हर तरफ पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे गू़ज रहे हैं।
शहीद मोहनलाल रतूड़ी का पार्थिव शरीर देहरादून पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया. कांवली रोड पर एमडीडीए कॉलोनी में स्थित शहीद के घर में लोगों का तांता लगा हुआ है. शहीद का पार्थिव शरीर को घर में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है।
बच्चे और शहीद की पत्नी तिरंगे में लिपटे देखकर रो-रोकर बुरा हाल हो गया है. शहीद के परिजनों का रूदन सुन ग्रामीणों की आंखें नम हो गई. शहीद के अंतिम दर्शन के बाद उनके पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जाएगा।
शहीद मोहन लाल रतूड़ी मूल रूप से उत्तरकाशी के चिन्यालीसौड़ तहसील के बनकोट गांव के रहने वाले थे. वो रामपुर ग्रुप सेंटर की 110 बटालियन में जम्मू-श्रीनगर हाई-वे पर रोड गश्त ड्यूटी में तैनात थे।

Post A Comment: