लुढ़का पारा, बढ़ गई सर्दी
देहरादून। सोमवार देर रात से मंगलवार सुबह तक हो रही बारिश से राजधानी देहरादून के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई है। ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। सोमवार देर रात तेज ठंडी हवाओं और गरज के साथ बारिश हुई। वहीं मंगलवार सुबह भी रुक-रुक कर बारिश का दौर जारी रहा। सुबह अंधेरा छा गया। वहीं मसूरी में बर्फबारी हुई। जिससे एक बार लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ा। वहीं जोशीमठ बद्रीनाथ हाईवे पर बलदुड़ा भारी मलबा आने से मार्ग बंद हो गया है। बोआरओ रास्ता खोलने में जुट गया है।
मंगलवार को सुबह 7 बजे से मसूरी में ओले गिरने शुरू हुए कुछ ही देर बाद हल्की बर्फबारी शुरू हो गई। तापमान में आई गिरावट से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। जिस कारण मालरोड पर सन्नाटा पसरा हुआ है। हालांकि कुछ पर्यटक मालरोड पर मसूरी के सुहाने मौसम का लुफ्त उठाते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं शहर में धुंध छाने के कारण वाहन चलाने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं यमुनोत्री धाम में सोमवार शाम से हो रुक-रुक कर हो रही बर्फबारी मंगलवार को भी जारी रही।
चकराता के लोखंडी, लोहारी, देववन, खडम्बा, बुधेर, व्यास शिखर, चोरानी आदि की ऊंची चोटियों पर सोमवार सुबह फिर बर्फबारी हुई। बर्फबारी से चकराता और आसपास का इलाका शीतलहर की चपेट में आ गया। सोमवार को क्षेत्र की ऊंची चोटियों पर करीब दो इंच हिमपात हुआ। बर्फबारी से चकराता का तापमान चार से गिरकर दो डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। 
वहीं निचले इलाकों विकासनगर, डाकपत्थर, हरबर्टपुर और आसपास के क्षेत्र में पूरे दिन बारिश से मौसम ठिठुरनभरा रहा। चकराता में सोमवार सुबह बारिश और ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई। क्षेत्र में पूर्व की बर्फ के न पिघलने और सोमवार को फिर से बर्फबारी होने से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में बारिश और हिमपात से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। ऊंचाई वाले इलाके में ग्रामीणों को पेयजल के साथ ही राशन गांवों तक पहुंचाने में समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

Post A Comment: