ऋषिकेश, 14फरवरी। पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार व पेसिफिक ट्रैवल एसोसिएशन द्वारा आयोजित पाटा एडवेंचर ट्रैवल एंड रिस्पांसिबिलिटीज कॉन्फ्रेंस एंड मार्ट- 2019 का पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज विधिवत उद्घाटन किया। मुनि की रेती गंगा रिसोर्ट में तीन दिवसीय पाटा टूरिज्म कॉन्फ्रेंस एंड मार्ट का आयोजन किया जा रहा है। इस कॉन्फ्रेंस में 28 देशों के पर्यटन व्यवसाय और प्रतिनिधि शिरकत कर रहे हैं। लेकिन बृहस्पतिवार कि सुबह आए तूफान के साथ बारिश में सम्मेलन के दौरान लगे , टेंटो को तहस-नहस कर दिया ।
कार्यक्रम के उद्घाटन अवसर पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि पर्यटन के क्षेत्र में उत्तराखंड में पूरे विश्व में एक अलग पहचान बनाई है उन्होंने कहा कि पर्यटन उत्तराखंड की रीढ़ है।
केंद्रीय पर्यटन सचिव योगेंद्र त्रिपाठी ने दुनिया भर से आए पर्यटन विशेषज्ञों व कारोबारियों का कॉन्फ्रेंस में स्वागत करते हुए कहा कि भारत में सुरक्षित पर्यटन पूरे विश्व के लिए उपलब्ध है। उन्होंने कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक अतुल्य भारत की तस्वीर पेश करते हुए स्लाइड शो के माध्यम से भारत में संचालित पर्यटन व साहसिक गतिविधियों को सामने रखा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड पर्यटन की दृष्टि से एक समृद्ध प्रदेश है।
पाटा के सीईओ मारियो हार्डी में 'नमस्ते' कहकर अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश में गंगा के तट पर सभी मेहमान आनंदित है वास्तव में यह जगह बेहद खूबसूरत है। उन्होंने राफ्टिंग, कैंपिंग, साइकिलिंग आदि गतिविधियों के लिए उत्तराखंड को सबसे बेहतर बताया। इस अवसर पर केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के संयुक्त सचिव सुमन बिल्ला, प्रदेश के पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने भी विचार व्यक्त किए। वहीं बृहस्पतिवार की सुबह वर्षा के साथ आए तूफान ने सेमिनार के पंडाल सहित सभी के लिए लगाए गए गमले टूट गये। जिससे आयोजको को काफी समस्या से जूझना पड़ा।

Post A Comment: