लाभ 26 फीसदी बढ़ा, एनपीए 0.93 फीसदी रहा
देहरादून। एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस ने वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कर उपरांत 596.31 करोड़ रूपये के लाभ की घोषणा की है। कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने तीसरी तिमाही के परिणामों की घोषणा की है। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में कंपनी का कर उपरांत लाभ 475.10 करोड़ रूपये था। कंपनी का लाभ बीते वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले 26 फीसदी बढ़ा है। 1,81,698 करोड़ रूपये के बकाया लोन पोर्टफोलियों 16 फीसदी बढ़ा है। कंपनी की शुद्ध ब्याज आय 1042 करोड़ रूपये रही है। वही कंपनी का पर्सनल लोन नेट एनपीए भी 0.93 फीसदी ही रहा है। कंपनी की तिमाही में कुल आय 4439 करोड़ रूपए रही जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 3262 करोड़ रूपये था और इसमें 22 फीसदी की वृद्धि हुई। परिचालन से राजस्व 23%  बढ़कर 3587 करोड़ रूपए से 4414 करोड़ रूपए हो गया। शुद्ध ब्याज आय 1042 करोड़ रूपये थी, जबकि पिछले साल इसी अवधि में ये 737 करोड़ रूपए थी।
  तिमाही के लिए कर से पहले लाभ 859.59 करोड़ रूपए था, जबकि पिछले वर्ष की समान अवधि के लिए 718.01 करोड़ रूपये था। डेवलपर ऋणों पर एनपीए सहित कंपनी के लिए एनएचबी के कुल सकल एनपीएन के अनुसार, 31 दिसंबर, 2018 को एनपीए के साथ 1.26%  था, जबकि 31 दिसंबर, 2017 को 0.87%  था। व्यक्तिगत वर्ग में सकल एनपीए 31 दिसंबर, 2018 तक 0.93% था।

Post A Comment: