ऋषिकेश 15 फरवरी। उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी घटना की निंदा करते हुए कहा कि हमारा राज्य सीमांत वर्ति क्षेत्र  है ।जहां के  अधिकांश लोग सेना में देश की सेवा कर रहे हैं ।इस घटना में भी उत्तराखंड का सैनिक शहीद हुआ है जिसकी निंदा की जानी चाहिए । दिवाकर भट्ट ने यह बात यहां शुक्रवार को आयोजित एक पत्रकार वार्ता के दौरान कही ,उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की है ,कि अब कहने से नहीं पाकिस्तान पर हमला करने से इस समस्या का समाधान होगा ।उन्होंने कहा कि देश के  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रोजाना पाकिस्तान को सबक सिखाने की बात करते हैं लेकिन आतंकवादी आए दिन हमारे सैनिकों का सीना छलनी कर रहे हैं ।जिससे सारा देश  व्यथित है। उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 18 वर्ष पहले राज्य  बनने के बाद भी आज भी विकास के क्षेत्र में सबसे पिछड़ा राज्य है।  यहां तक कि राज्य के 3000  स्कूलों में मास्टरों के ना होने के कारण ताले लगे हैं। उक्रांद नेता दिवाकर भट्ट ने राज्य सरकार द्वारा हाल ही में संपन्न हुई सेमेस्टर मीट की आलोचना करते हुए कहा अब बेरोजगारी के कारण पहाड़ों से  पलायन हो रहा था वहीं राज्य सरकार ने खाली हो गए पहाड़ों को विदेशियों को उद्योग धंधे लगाए जाने के लिए दिए जाने का निर्णय लिया है। जो कि चिंता का विषय है। जो कि विदेशों की ऐस गाह बनेगा। जिससे हमें बचना होगा। उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि  सरकार पूरे पहाड़ को शराब में डुबो रही है। जो कि जगह जगह ठेकेखुलवा कर युवा पीढ़ी को शराब मे डुबो रही है। उन्होंने कहा कि अब उक्रांद गांव बचाओ आंदोलन चलाएगी। गांव बचाएंगे तो पहाड़ बचेगा। दिवाकर भट्ट ने कहा कि 23 फरवरी से उत्तराखंड के सभी बड़े नेता जन जागरण अभियान चलाएंगे और इसी के साथ 18 फरवरी को विधानसभा के बाहर धरना दिया जाएगा पत्रकार वार्ता में क्रांति दल के वरिष्ठ नेता लता पथ हुसैन ,राकेश राजपूत सनी पाठक ,आशीष कुमार, जय प्रकाश, आदि उपस्थित थे।

Post A Comment: