ताज़ा ख़बर

ऋषिकेश, 1 अप्रैल। मुनिकीरेती क्षेत्र में अगर आप बेवजह सड़क पर घूमते मिले तो आप को पकड़ लिया जाएगा इसके बाद पुलिस 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन मैं रखेगी तपोवन चौकी इंचार्ज विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि जनता कर्फ्यू के बाद 23 मार्च से प्रधानमंत्री मोदी ने देश में लॉक डाउन किया गया है लिहाजा लॉक डाउन के दौरान बेवजह घूमने वालों पर पुलिस अब एक्शन लेगी बताया कि मुनी की रेती पुलिस क्षेत्र में कहीं में अगर कोई सड़क पर बेवजह आवारा घूमते हुए मिला उसे पुलिस पकड़ लेगी और 14 दिन के लिए उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जाएगा लिहाजा लोगों से अपील की जाती है कि घर से बेवजह बाहर ना निकले आवश्यक कार्य हो तो तभी निकले उन्होंने कहां की गुरुवार से ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी । 
ऋषिकेश,1 अप्रैल। एक और जहां सरकार जरूरतमंदों के लिए हर संभव मदद करने में जुटी है वहीं आमजन भी यह संकट की घड़ी में लोगों के साथ खड़ी है शहर में तमाम सामाजिक संगठन के लोग गरीब और जरूरतमंदों की सहायता को आगे आ रहे हैं इस मुहिम में भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष कुसुम कंडवाल भी पीछे नहीं है वह 4 दिनों से जरूरतमंदों के लिए घर पर भोजन तैयार कर रही हैं और उन्हें पुलिस के माध्यम से भोजन उपलब्ध करवा रही हैं उनकी यह पहल अपने आप में सराहनीय है कुसुम कंडवाल ने बताया कि कोरोनावायरस संक्रमण के चलते हैं जनता कर्फ्यू के बाद 23 मार्च से पूरे देश में लॉक डाउन किया गया है लिहाजा दिहाड़ी मजदूरी करने वाले लोगों के सामने अब परिवार का भरण पोषण करने में परेशानी हो रही है वहीं सरकार जी आपकी तरफ से जरूरतमंदों की मदद कर रही है उन्होंने भी जरूरतमंदों की सहायता के लिए कुछ करने की ठानी लिहाजा उन्होंने परिवार के साथ घर में ही जरूर मुद्दों के लिए खाना बनाने का काम शुरू किया और पैक कर पुलिस को दे रही है ताकि पुलिस उन्हें सही लोगों तक पहुंचा सके । इस मुहिम में उनके साथ  अनिल कडवाल , धर्मपाल और विपिन गुलाटी  पूर्ण रूप से सहयोग करने हैं उन्होंने लोगों से भी अपील की वह भी संकट की घड़ी में लोगों की मदद करें उन्होंने कहा कि इस समय कोरोनावायरस के चलते हैं प्रकोप चल रहा है इसलिए आजा लोगों से उन्होंने अपील की है कि वह घर से बेवजह ना निकले और प्रधानमंत्री मोदी के आव्हान पर किया गया लोक डॉन का घर में बैठकर पालन करें। 
देहरादून 1अप्रैल, कोविड- 19 के खिलाफ लड़ाई में राष्ट्र के साथ कदम मिलाते हुए देश के सबसे बड़े ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के लगभग 2,56,000 कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में दो दिनों के वेतन का योगदान करने का निर्णय लिया है। एसबीआई कर्मचारियों के इस सामूहिक प्रयास और प्रतिबद्धता के साथ ₹ 100 करोड़ रुपए का योगदान पीएम केयर्स फंड में किया जाएगा। यह फंड कोरोनोवायरस महामारी से लड़ने के लिए बनाया गया है।
कोविड- 19 के खिलाफ लड़ाई में सरकार का सहयोग करने के लिए एसबीआई ने पिछले सप्ताह अपनी सीएसआर गतिविधियों के एक भाग के रूप में वित्त वर्ष 2019-20 के वार्षिक लाभ का 0.25 प्रतिशत हिस्सा खर्च करने की प्रतिबद्धता जताई थी।
एसबीआई के अध्यक्ष श्री रजनीश कुमार ने कहा, ‘‘भारतीय स्टेट बैंक के लिए यह गर्व की बात है कि हमारे सभी कर्मचारी स्वेच्छा से अपने दो दिनों के वेतन का योगदान पीएम केयर्स फंड में करने के लिए आगे आए हैं। यह वह समय है जहां हम सभी को एकजुट प्रयासों के साथ कोविड- 19 के खिलाफ चल रही इस लड़ाई का मुकाबला करने की आवश्यकता है। इस महामारी की चुनौतियों से निपटने के लिए हम एसबीआई में अपने सभी प्रयासों के साथ सरकार का समर्थन जारी रखेंगे।‘‘
संकट के इस समय में एसबीआई देश में अपने ग्राहकों को सर्वोत्तम संभव बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है और साथ ही साथ कोविड- 19 के प्रसार से लड़ने में देश के नागरिकों की मदद करने का प्रयास कर रहा है।

ऋषिकेश 1 अप्रैल । कोरोना वायरस की  महामारी के कारण लॉक डाउन की वजह से घरों में कैद रेहडी, ठेली लगाने वाले एवं दिहाड़ी , मजदूरी, पल्लेदारी  करने वाले जरूरतमंदो को आज विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने पुलिस प्रशासन के सहयोग से हेल्पिंग हैंड सामाजिक संस्था के तत्वाधान में चंद्रभागा मे 500 से अधिक जरूरतमंदों को लंच के पैकेट वितरित किए गये।
     लंच पैकेट वितरण करते समय सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए  अग्रवाल ने कहा है कि लॉक डाउन की वजह से जरूरतमंदों को भोजन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या ना हो, इसलिए विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा भोजन एवं राशन आदि का वितरण किया जा रहा है यह क्रम आगे भी जारी रहेगा ।
  चंद्रभागा बस्ती में  लंच पैकेट वितरण करने के पश्चात अग्रवाल ने कहा है कि जरूरतमंदों को लंच के पैकेट मिलने से कुछ तो राहत मिलेगी । अग्रवाल ने कहा है कि  रेहड़ी,ठेली लगाने वाले, मजदूर पल्लेदार आदी जरूरतमंदों को किसी भी प्रकार से परेशान होने की आवश्यकता नहीं है हर संभव प्रयास किया जा रहा है कि आवश्यक जरूरतों का सामान सभी लोगों तक पहुंचाया जा रहा है । इस अवसर पर हेल्पिंग हैंड सामाजिक संस्था के बसंत तिवारी,  कपिल शर्मा, पुलिस विभाग के उपनिरीक्षक कुलदीप रावत,  उप निरीक्षक विनय कुमार आदि सहित पुलिस प्रशासन के लोग उपस्थित थे ।
ऋषिकेश 31 मार्च। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं लॉकडाउन की स्थिति में क्षेत्र में आवश्यक सुविधाएं एव सेवायें उपलब्ध करवाए जाने, वितरण प्रणाली को सुनिश्चित करने के संबंध में आज विधानसभा अध्यक्ष  प्रेमचंद अग्रवाल ने ऋषिकेश स्थित अपने कैंप कार्यालय में  विभिन्न व्यापारिक संगठनों, एनजीओ जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।
      इस अवसर पर अग्रवाल ने व्यापारी संगठनों एवं पदाधिकारियों से लॉकडाउन के दौरान क्षेत्र में किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो इस बारे में जानकारी हासिल की। अग्रवाल ने सभी व्यापारी संगठनों, पदाधिकारियों का आभार भी व्यक्त किया जो सभी महामारी से निपटने के लिए क्षेत्र में अपनी आवश्यक सेवाएं प्रदान कर  रहा है।अग्रवाल ने कहा है कि इस महामारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंस के साथी स्वयं अपने परिवार अथवा क्षेत्र को बचाने के लिए लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है । अग्रवाल ने कहां है कि  किसी भी चीज की  आपूर्ति बाधित ना हो  इसका पूरा ध्यान रखा जाए l
     उन्होंने कहा है कि समाज का सभी वर्ग मिलाकर इस विकट आपदा की घड़ी में साथ खड़ा हुआ हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की गरीब व आम जनता को यथासंभव राहत पहुंचाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जा रही है।
 अग्रवाल ने कहा कि ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत सभी शहरी एवं ग्रामीण प्रत्येक वार्ड में गरीब परिवारों को चिन्हित करके गरीब परिवारों को लाभ मिले जिसका लाभ स्थानीय लोगों को मिल रहा है ।  अग्रवाल ने बैठक के दौरान सभी सभी व्यापारिक संगठनों ,एनजीओ एवं जनप्रतिनिधियों से आव्हान करते हुए कहा है कि हर संभव गरीब तबके के लोगों की मदद की जाए l ताकि कोई गरीब एवं घड़ी मजदूरी करने वाले भूखे ना सोए l
     बैठक के अंत में उपस्थित सभी जनप्रतिनिधि एवं व्यापारिक संगठन के पदाधिकारियों ने चिकित्सा से जुड़े हुए सभी कोरोनावायरस योद्धाओं पुलिसकर्मी ,मीडिया कर्मी का तालियां बजाकर स्वागत किया l
      
ऋषिकेश, 31 मार्च। ऋषिकेश कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है। जिसके चलते लोग जगह-जगह पर फंसे हुए हैं। ऐसे समय में गरीब असहाय लोगों भोजन की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गरीब असहाय लोगों की मदद के लिए भारतीय जनता पार्टी ऋषिकेश मंडल की ओर से जरूरतमंदों के लिए 300 मोदी टिफिन दिया गया। मंडल अध्यक्ष दिनेश सती ने बताया कि देश में कोरोनावायरस का प्रकोप चल रहा है लिहाजा जरूरतमंदों को मोदी टिफिन उपलब्ध कराया गया है। कि आगे भी जरूरतमंदों को सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। इस संकट की घड़ी में ऋषिकेश भाजपा मंडल कार्यकर्ता कंधे से कंधा मिलाकर गरीब असहाय लोगों की सेवा में जुट गई है। उन्होंने लोगों से घर से ना निकलने की भी अपील की कहा कि लॉक डाउन का पालन करें।  इस मौके पर कंडवाल पर भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष कुसुम कंडवाल पर संजय शास्त्री, हिमांशु संगतानी, सुमित पवार, सरोज डिमरी, अनीता तिवारी, रमा रावत, उषा जोशी, मीना रावत, रोमा सहगल, सरोजिनी नेगी, शिव कुमार गौतम, सिद्धार्थ डंगवाल, मुकेश ग्रोवर, जितेंद्र अग्रवाल, इंद्र कुमार गोदवानी आदि लोग उपस्थित थे।  
(आज का आदित्य )कोरोना वायरस के चलले अभी देश भर लॉकडाउन चल रहा है। जिसके चलते लोग जगह-जगह फंसे हुए है। ऐसे में समय में लोगों के सामने जो सबसे बड़ी दिक्कत आ रहा हैं वह राशन का खत्म होना। इस का सबसे ज्यादा जिन लोगों को सामना करना पड़ रहा है,वह है उत्तराखंड में दूरस्थ क्षेत्रों में रह रहे ग्रामिण। जिनको सबसे ज्यादा चुनौतियों का समान करना पड़ रहा है।
ऐसे समय में सरकार के साथ-साथ कई सामाजिक संगठन भी इन लोगों की मदद के लिए आगे आए है। जिनमें मोहन काला फाउंडेशन अग्रणीय भूमिका निभा रही है। कोरोना महामारी के दौर को देखते हुए हमेशा की तरह मोहन काला फाउंडेशन ने अपना हाथ पहाड़ के इन दूर-दराज के क्षेत्रों में रह रहे ग्रामिणों की मदद के लिए  बढ़ाए है। जिसके तहत समाज सेवी मोहन काला ने  श्रीनगर विधानसभा एवं इसके आस-पास के गांव और बाजारों में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों लगभग 15000 मास्क वितरित किए इसी के साथ कई जरूरतमंद और निर्धन परिवारों तक निःशुल्क राशन पहुंचाया है।
इससे पहले भी मोहन काला फाउंडेशन के कार्यकर्ता श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ गांव तक मास्क और राशन पहुंचा चुके है।
इस बारे में समाजसेवी मोहन काला ने अपने संदेश में बताया कि इस समय हमारे सामने सबसे बड़ी प्राथमिकता हैं कि हम ग्रामिणों तक मास्क पहुंचाएं ताकि वह संक्रमण से बच सकें। इसी के साथ आज पहाड़ पर कई गांव ऐसे है। जहां बहुंत गरीब लोग निवास करते है,उनके पास जो राशन था वह भी खत्म हो चुका है। लेकिन वह लोगों बजारा तक नहीं पहुंच सकते हैं कि क्योंकि परिवहन व्यवस्था बंद है। इस लिए हमने इन दूरस्थ गांव तक अपने कार्यकर्ताओं को भेजा है। जो कई किलोमीटर पैदल चल कर इन गांव तक पहुंच रहे और जरूरतमंद लोगों को खाद्य सामग्री प्रदान कर रहे है। मोहन काला ने बताया की श्रीनगर विधानसभा में हमने लगभग  300 युवा और उनके परिवारों को जो देहरादून,दिल्ली,अमृतसर,बेैंगलोर और मुम्बई में परेशान थे और भुखमरी की कगार पर पहुंच गए थे। इन लोगों तक हमने राशन पहुंचा दिया है।
आपको बता दें कि इससे पहले भी मोहन काला, मोहन काला फाउंडेशन के तत्ववाधान में कई विवदाओं में उत्तराखंड के जनमानस को सहयोग कर चुके है। इसी के साथ मोहन काला तमाम माध्यमों से लोगों तक संदेश पहुंचा रहे कि इस विपदा के समय में यदि किसी को भी मास्क की ज़रूरत है या जिस किसी को देहरादून, दिल्ली या मुम्बई या अन्य शहरों में कोरोना महामारी में मदद चाहिये वह हमें संपर्क कर सकते है। हम हर संभव उन लोगों तक मदद पहुंचाने की कोशिश करेंगे।
 इस मौके पर मोहन काला फाउंडेशन कार्यकर्ता आयुष मियाँ, सुशील गोदियाल, गोविंद नेगी, प्रकाश गोदियाल, रमेश शर्मा, नरेंद्र नेगी, योगी भण्डारी आदि इस कोरोना बीमारी को दूर भगाने और समाज के पीड़ित वर्ग को सहायता पहुँचाने के लिये साथ दे रहे हैं.